Success Story : पढ़िए एक सिंगल मदर के संघर्ष की कहानी, UPPSC क्लियर कर टीचर से बनीं इंटर कॉलेज प्रिंसिपल

Poonam Chaudhary Success Story : पूनम के लिए यह सफर काफी मुश्किलों भरा रहा. वह पीसीएस प्री परीक्षा में पहले भी 3 बार शामिल हो चुकी थीं लेकिन मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू तक पहली बार पहुंची थीं. 

 
Poonam Chaudhary Success Story

HR Jobs Alert, New Delhi : हम बेशक 21वीं सदी में हैं लेकिन अब भी सिंगल मदर के लिए जिंदगी की राह उतनी आसान नहीं है. पूनम चौधरी दो साल से बुलंदशहर के राजकीय इंटर कॉलेज में टीचर के तौर पर काम कर रही हैं.

यूपी पीसीएस 2021 परीक्षा पास करके वह राजकीय इंटर कॉलेज की प्रिंसिपल बन गई हैं. जानिए पूनम चौधरी की सक्सेस स्टोरी. पूनम चौधरी हर उस महिला के लिए मिसाल बन गई हैं, जो ज़िंदगी में आ रही किसी भी परेशानी से जूझ रही है. 

पूनम चौधरी मूल रूप से बुलंदशहर की रहने वाली हैं. बीते 10 साल से वह मेरठ में रह रही हैं. शादी के 7 साल बाद पति से अलग होकर उन्होंने सिंगल मदर के तौर पर अपनी बेटी की परवरिश की है. फिलहाल पूनम चौधरी जीआईसी बुलंदशहर में साइंस और मैथ्स जैसे सब्जेक्ट पढ़ाती हैं.

पूनम चौधरी की बेटी रुशाली चौधरी दयावती मोदी एकेडमी में कक्षा 10वीं की स्टूडेंट हैं. पूनम के इस कठिन सफर में उन्हें अपनी बेटी, मां-बाप और भाइयों का पूरा साथ मिला. पति से अलग होने के बाद स्कूल में पढ़ाने और बेटी की परवरिश करने से जो भी समय मिलता था, उसमें वह पीसीएस परीक्षा की तैयारी करती थीं.

पूनम के लिए यह सफर काफी मुश्किलों भरा रहा. वह पीसीएस प्री परीक्षा में पहले भी 3 बार शामिल हो चुकी थीं लेकिन मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू तक पहली बार पहुंची थीं. बीच में दो साल तबियत खराब होने की वजह से उनकी तैयारी पर ब्रेक लग गया था. फिर उन्होंने दोबारा तैयारी शुरू की और यूपी-पीसीएस 2021 में सफल होकर जीआईसी, बुलंदशहर की प्रिंसिपल बन गईं.