Success Story: मां है इंस्पेक्टर, बेटी बनी IAS, खूबसूरती में है सबसे आगे

परी बिश्नोई राजस्थान के अजमेर की रहने वाली है। परी की मां खुद एक इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत है और परी के पिता लॉयर है। परी अपने पहले दो प्रयासों में UPSC की परिक्षा में फेल हो गई थी, लेकिन परी ने हार नही मानी और अपनी मेहनत जारी रखी और आज परी अपने समाज की पहली IAS Officer है। आइए जानते है परी बिश्नोई की कहानी...
 
ias pari bishnoi

Newz Fast, Success Story: परी राजस्थान के अजमेर की रहने वाली है। परी का जन्म  26 फरवरी 1996 को हुआ था। परी की माता का नाम सुशीला बिश्नोई है और वे अजमेर में जीआरपी थानाधिकारी हैं।

परी के पिता का नाम मनीराम बिश्नोई है और वो एडवोकेट है। परी अपने पहले दो प्रयासों में तो असफल रही। लेरिनन इसके बाद भी परी ने हार नही मानी।

अपनी मेहनत के बलबूते पर परी आज एक आईएएस ऑफिसर है और परी अपने बिश्नोई समाज की पहली महिला आईएएस ऑफिसर है। 

IAS Pari Bishnoi Education: आईएएस परी बिश्नोई ने अजमेर में स्थित सेंट मैरी कॉन्वेंट स्कूल से पढ़ाई की है। उन्होंने 12वीं में ही तय कर लिया था कि वह आईएएस ऑफिसर बनेंगी।

12वीं के बाद वह दिल्ली आ गई थीं। उन्होंने Delhi University से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की थी और उसके साथ ही सरकारी नौकरी की तैयारी शुरू कर दी थी। उन्होंने अजमेर के एमडीएस विश्वविद्यालय से पॉलिटिकल साइंस में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है।

IAS Pari Bishnoi UPSC: परी बिश्नोई ने यूपीएससी परीक्षा के तीन अटेंप्ट दिए थे। इस बीच उन्होंने नेट-जेआरएफ परीक्षा क्लियर कर ली थी। लेकिन उन्हें सिविल सर्विस में ही भविष्य बनाना था

और इसीलिए वह देश की सबसे कठिन परीक्षा की तैयारी करने में जुटी रहीं। आखिरकार साल 2019 में यूपीएससी परीक्षा के तीसरे अटेंप्ट में 30वीं रैंक के साथ वह सफल हो गई थीं। 

IAS Pari Bishnoi Instagram: आईएएस परी बिश्नोई सोशल मीडिया साइट इंस्टाग्राम पर काफी लोकप्रिय हैं। इंस्टाग्राम पर उनके 86 हजार से ज्यादा फॉलोअर्स हैं।

वह सोशल मीडिया पर अक्सर अपनी फोटोज़ शेयर करती रहती हैं। फिलहाल वह Ministry of Petroleum and Natural Gas में IAS Assistant Secretary के तौर पर पोस्टेड हैं