Success Story: UPSC के लिए ठुकराई MNC की नौकरी, थर्ड अटेम्‍प्‍ट में बने IPS

बहुत से ऐसे उम्मीदवार होते है जो UPSC की तैयारी के लिए बेहतर से बेहतर नौकरी तक को ठुकरा देतें है। वे सपना देखते है कि उनके कंधे पर भी सितारें चमके। लेकिन  इन सितारों को पा लेने का सफर बहुत मुश्किल होता है। आईए आपको ऐसे ही एक IPS की कहानी से अवगत करवाते है। 
 
ips abhishek

Newz Fast, Success Story: कुछ लोग ऐसे होते है जो सोचते है कि अगर उन्हे एक अच्छी सी प्राईवेट नौकरी मिल जाए तो उन्हे अपने जीवन में और कुछ नही चाहिए। 

लेकिन UPSC के कुछ ऐसे दिवाने होते है जो अपने सपने को पूरा करने के लिए बेहतर से बेहतर प्राईवेट नौकरी तक को ठुकरा देते है। उनमें एक अलग ही जुनून होता है अपने देश की सेवा करने का और अपने कंधे पर सितारें चमकते हुए देखने का। 

अपने इस सपने को पूरा करने के लिए वे दिन-रात एक कर देते है। कितनी भी मुश्किल आए लेकिन अपने इस सपने को पूरा करे ही रहते है। हर कोई पहली बार में ही UPSC की परिक्षा को पास नही कर पाता है। 

ऐसी ही कहानी है आईपीएस अभिषेक की, जिन्होने 2 बार परिक्षा में फेल हो जाने पर भी अपने सपने को नही छोड़ा और अपनी तैयारी जारी रखी।

उन्हे पहले MNC में नौकरी का शानदार पैकेज भी मिला था, लेकिन अपने IPS के सपने को पूरा करने के लिए उन्होने अपनी बेहतरीन प्राइवेट जॉब को भी ठुकरा दिया। 

थर्ड अटेम्‍प्‍ट में बने आईपीएस

आपको बता दें कि अभिषेक ने नौकरी छोड़ने से पहले अपने पिता से राय मांगी। उनके पिता ने उनसे कहा कि वे हर फैसले में उनके साथ हैं।

इसके बाद अभिषेक देश की राजधानी दिल्‍ली की तरफ चल दिए। यहां वे सिविल सर्विस की पढ़ाई के लिए आए थे। साल 2012 में उन्होंने पहला अटेंप्ट दिया था, जिसमें उन्‍हें सफलता नहीं मिली।

इसके बाद उन्‍होंने बिना समय गवाएं अगले साल की परीक्षा के लिए तैयारी शुरू कर दी। इस बार यानी साल 2013 में उन्‍हें सफलता हाथ लग ही गई। उनका चयन इंडियन रेलवे सर्विस (Indian Railway Service) के लिए हो गया,

लेकिन उन्होंने अगली बार फिर प्रयास किया और साल 2014 में उन्‍हें कामयाबी मिल गई। अभिषेक का चयन इस बार पुलिस सर्विस के लिए हुआ। 

बिहार से मल्टीनेशनल कंपनी तक का सफर  

आईपीएस अधिकारी अभिषेक बिहार से हैं। उन्‍होंने 10वीं तक की पढ़ाई कटिहार से की। उसके बाद आगे की पढ़ाई के लिए पटना चले गए।

यहां से उन्‍होंने 12वीं पास की और  इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। कॉलेज की पढ़ाई पूरी होने के बाद उनका चयन मल्टीनेशनल कंपनी (MNC) में हो गया था। यहां उन्‍हें शानदार पैकेज मिला था।

वेस्‍टर्न कल्‍चर नहीं भाया 

मल्टीनेशनल कंपनी (MNC) में काम करने के लिए अभिषेक हैदराबाद चले गए। यहां पर काम करने की वजह से उनका पूरा रूटीन ही बदल गया। 

यहां पर उन्हें पश्चिमी देशों के टाइम जोन के आधार पर काम करना होता था। जिस वजह से उन्‍हें लगने लगा कि इससे उनकी सेहत खराब हो सकती है और उन्होंने नौकरी छोड़ने का फैसला ले लिया। 

उसके बाद उनकी जिदंगी ही बदल गई। उन्‍हें पढ़ाई के लिए दिल्‍ली आना पड़ा। यहां से उन्‍होंने UPSC की तैयारी शुरू कर दी। आपको बता दें कि अभिषेक अपने हेल्‍थ को लेकर भी काफी सचेत रहते हैं, उन्हें सुबह जल्दी उठना और जिम जाना पसंद है। नौकरी छोड़ने के पीछे एक वजह ये भी थी।