IAS Success Story : बचपन में ही तय कर लिया था कि बनना है IAS, रोजाना जरूर करती थीं ये काम

UPSC Exam: ईशा दुहन ने तैयारी के शुरुआती दिनों में ऑप्शनल सब्जेक्ट को क्लियर करने के लिए तैयारी की. साथ ही वह हर दिन अखबार जरूर पढ़ती थीं. 

 
IAS Isha Duhan Success Story

HR Jobs Alert, New Delhi : यूपीएससी की परीक्षा (UPSC Exam) पास करना कोई आसान काम नहीं है. इसके लिए उम्मीदवार को कड़ी मेहनत के साथ सही स्ट्रेटजी बनाने की जरूरत होती है. आज हम आपको एक ऐसी आईएएस अधिकारी की कहानी बताने जा रहे हैं, जिन्होंने 8वीं क्लास में ही आईएएस बनने की ठान ली थी.

उत्तर प्रदेश कैडर की आईएएस अधिकारी ईशा दुहन 2014 बैच की अधिकारी हैं. उन्होंने इस परीक्षा में 59वीं रैंक हासिल की थी. ईशा दुहन का कहना है कि वह आठवीं क्लास से ही आईएएस बनाना चाहती थीं.

वह बायोटेक्नोलॉजी में ग्रेजुएट हैं. उन्होंने ग्रेजुएशन के फाइनल ईयर में यूपीएससी परीक्षा को क्रैक करने के लिए तैयारी शुरू की थी. वह यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए सुबह 5:30 बजे से क्लास अटेंड करती थीं. जिसके बाद वह यूनिवर्सिटी पढ़ने जाती थीं.

कुछ समय बाद IAS ईशा को लगा कि उन्हें पहले अपने कॉलेज की पढ़ाई पूरी कर लेनी चाहिए. उसके बाद वह यूपीएससी की तैयारी कर सकती हैं. कॉलेज की पढ़ाई खत्म होने के बाद वह दिल्ली आ गईं जहां उन्होंने सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी.

ईशा बताती हैं कि उन्होंने तैयारी के शुरुआती दिनों में ऑप्शनल सब्जेक्ट को क्लियर करने के लिए तैयारी की. साथ ही वह हर दिन अखबार जरूर पढ़ती थीं. UPSC परीक्षा की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों को आईएएस ईशा ने सलाह दी कि वह पिछले सालों के पेपर जरूर देखें, जिससे उम्मीदवार पेपर पैटर्न को समझ सकेंगे.

ईशा दुहन ने उम्मीदवारों को सलाह दी कि वह तैयारी करने के लिए सोर्स को तय कर लें. उन्होंने कहा कि एनसीईआरटी की किताबें परीक्षा की तैयारी में उम्मीदवारों को बेहद मदद करती हैं.